Not seeing a Scroll to Top Button? Go to our FAQ page for more info.
Admission Open Session 2024-25, Coming soon........
-:- प्राचार्य संदेश -:-

भूमण्डल के हर जीवों की भांति मनुष्य भी अपने जीवन को सुखी एवं सम्रध्द बनाने हेतु अहनिशि प्रयत्न करता है | भौतिक सुखों की प्राप्ति के चक्कर में मानव अपना मूलधर्म भूलता जाता है | जबकि गोस्वामी तुलसीदास जी ने लिखा है -

जिमि सरिता सागर महु जाहीं | जद्द्यपी ताहि कामना नाहीं|
तिमि सुख सम्पति बिनहि बोलाए | धरमशील पहि जांहि सुभाए ||

नदियों का जल स्वभावत: समुद्र में ही जाता है | सागर को न तो जल की कामना है और न ही उसने नदियों को आमंत्रित किया है अर्थात् जैसे नदियाँ सागर में स्वयंमेव चली जाती है, उसी प्रकार धर्म में निरत धर्मात्मा-धर्म निष्ट महानुभावों के पास सारे सुख, समस्त समृध्दियाँ स्वंय स्वभावत: चली आती है | स्पष्ट है कि सुखों की प्राप्ति के लिए धर्म की उपेक्षा अथवा अज्ञानता नहीं आनी चाहिए|

यहाँ यह तथ्य भी ध्यातव्य है कि संसार में मानव शरीर की प्राप्ति चतुर्विध पुरूषार्थो की सिध्दि के लिए है |अतएव अर्थ, धर्म के लिए और कामनाएँ मोक्ष के लिए हों, तभी चारो पुरुषार्थों की सिध्दि सम्भव है |

श्रेयान्स्वधर्मों विगुण: परधर्मास्वनुष्ठितात |
स्वधर्मों निधनं श्रेय:,परधर्मो भयावह: ||

वस्तुत: धर्म ही मनुष्य में मानवता की स्रष्टि करता है | सुख-शान्ति, ऐश्वर्य एवं मुक्ति का मार्ग प्रशस्त करता है | भगवान वेदव्यास जी ने परोपकार, संत तुलसी ने परहित तथा जैनमत में अहिंसा आदि विकारों पर विजय पाना है | अर्थात् बुध्दिमानी, तत्वदर्शी लोग जिस मार्ग से जाएँ वही सदाचार और धर्म है | इस धर्म का पालन करना हम सभी का अभीष्ट कर्म है |


प्राचार्य
श्री गणेश प्रसाद मिश्र


-:- प्राचार्य सूची -:-

नाम समय काल
श्री रामरतन वर्मा   1973 से 30-06-77
श्री श्याम किशोर वर्मा   01-07-77 से 30-06-78
श्री धर्मदास अग्रवाल   01-07-78 से 29-10-96
डॉ. भृगुनाथ पाण्डेय (प्रभारी )   29-10-96 से 25-06-97
श्री कृष्णनन्द शुक्ला   25-06-97 से 01-08-2001
श्री जयनारायण मिश्रा (प्रभारी)   09-08-2001 से 01-08-2003
डॉ. देवेंन्र्द सिंह   01-08-2003 से 30-04-2006
श्री इन्द्रपती प्रसाद पाण्डेय   13-06-2009 से 13-05-2009
श्री विष्णुकांत त्रिपाठी   01-06-2009 से 04-06-2012
श्री उमाशंकर पाठक   05-06-2012 से 13-06-2016
श्री विष्णुकांत त्रिपाठी   07-06-2016 से 17-08-2022
श्री हिमांचल चतुर्वेदी   18-08-2022 से 10-05-2023
श्री गणेश प्रसाद मिश्रा   11-05-2023 से अब तक

© हमारे प्रेरणा श्रोत 2014-24 सरस्वती विद्यालय कृष्णनगर सतना (म०प्र०)
Website updated on 24-01-2024